जनहित में जारी एक आवश्यक सूचना गोण्डा लाइव न्यूज एक प्रोफेशन वेब मीडिया है। जो समाज में घटित किसी भी घटना-दुघर्टना , समसामायिक घटना , राजनैतिक घटना क्रम , भ्रष्ट्राचार , सामाजिक समस्या , खोजी खबरे , संपादकीय , ब्लाग , सामाजिक हास्य , व्यंग , लेख , खेल ,कविता ,कहानी , किसान जागरूकता सम्बन्धित लेख आदि से सम्बन्धित खबरे ही प्रकाशित करती है। यदि आप अपना नाम देश-दुनिया में विश्व स्तर पर ख्याति स्थापित करना चाहते है। और अपने अन्दर की छुपी हुई प्रतिभा को उजागर कर एक नई पहचान बनाना चाहते है। तो ऐसे में आप आज से ही नही बल्कि अभी से ही बनिये गोण्डा लाइव न्यूज के एक सशक्त सहयोगी। और अपने आस-पास घटित होने वाले किसी भी प्रकार की घटनाक्रम पर रखे पैनी नजर। और उसे झट लिख भेजिए गोण्डा लाइव न्यूज के Email-news101gonda@gmail.com पर या सम्पर्क करें दूरभाष-8303799009 पर । सादर धन्यवाद

10 जनवरी, 2019

अस्थाना केस के दो अधिकारी सहित पांच अधिकारियों का किया तबादला,एक्शन में सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा


जबरन छुट्टी पर भेजे जाने के 77 दिन बाद बुधवार को अपनी ड्यूटी पर लौटने के बाद सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा लगातार एक-एक करके बड़े फैसले ले रहे हैं। एएनआई एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि आलोक वर्मा ने पांच और अधिकारियों का तबादला किया है।सीबीआई सूत्रों के मुताबिक पांच अधिकारियों ज्वाइंट डॉयरेक्टर अजय भटनागर, डीआईजी एम के सिन्हा, डीआईजी तरुन गौबा, ज्वाइंट डॉयरेक्टर मुरुगेशन और एडिश्नल डॉयरेक्टर ए के शर्मा का तबादला किया गया है। सूत्रों के मुताबिक अनीश प्रसाद डिप्टी डॉयरेक्टर प्रशासन(मुख्यालय) का काम करते रहेंगे। इसके अलावा के आर चौरसिया स्पेशल यूनिट-1 की अगुवाई करेंगे। स्पेशल यूनिट-1 निगरानी का काम करती है।
CBI Sources: Anish Prasad continues Deputy Director, Administration, CBI Headquarters. KR Chaurasia will head Special Unit-I (the unit which carries surveillance)

See ANI's other Tweets
बता दें कि आलोक वर्मा ने अस्थाना केस की चांज कर रहे दो अफसरों का दबदला कर दिया गया है।मालूम है कि बुधवार को आलोक वर्मा ने तत्कालीन निदेशक (प्रभारी) एम नागेश्वर द्वारा किये गये लगभग सारे तबादले रद्द कर दिये। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उच्चतम न्यायालय ने वर्मा को छुट्टी पर भेजने के सरकारी आदेश को कल रद्द कर दिया था।वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच तकरार शुरु होने के बाद सरकार ने दोनों को छुट्टी पर भेज दिया था और उनके सारे अधिकार ले लिये थे। उसके बाद 1986 बैच के ओड़िशा काडर के आईपीएस अधिकारी राव को 23 अक्टूबर, 2018 को देर रात को सीबीआई निदेशक के दायित्व और कार्य सौंपे गये थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कमेन्ट पालिसी
01-नाम वाले जगह में कीवर्ड ना भरे,अपना वास्तविक नाम का ही प्रयोग करें।
02-अपना वास्तविक ईमेल का ही प्रयोग करें।
03-वेबसाइट वाले जगह में सिर्फ ब्लाग यूआरएल ही प्रयोग करें,पोस्ट यूआरएल का प्रयोग ना करें।
04-सिर्फ विषय से सम्बन्धित ही कमेण्ट या प्रश्न करें।
05-नाइस,थैंक्स ,अवेसम जैसे शार्ट कमेेण्ट ना प्रयोग करें।
06-यदि आप गोण्डा लाइव न्यूज धर्म-संसार कमेन्ट पालिसी का प्रयोग नही करेगें तो ऐसे में आपका कमेन्ट आटोमेंटिक स्पैम समझ कर डिलेट कर दिया जायेगा जिसका जिम्मेदार आओ स्वयं होंगे ।
धन्यवाद