जनहित में जारी एक आवश्यक सूचना गोण्डा लाइव न्यूज एक प्रोफेशन वेब मीडिया है। जो समाज में घटित किसी भी घटना-दुघर्टना , समसामायिक घटना , राजनैतिक घटना क्रम , भ्रष्ट्राचार , सामाजिक समस्या , खोजी खबरे , संपादकीय , ब्लाग , सामाजिक हास्य , व्यंग , लेख , खेल ,कविता ,कहानी , किसान जागरूकता सम्बन्धित लेख आदि से सम्बन्धित खबरे ही प्रकाशित करती है। यदि आप अपना नाम देश-दुनिया में विश्व स्तर पर ख्याति स्थापित करना चाहते है। और अपने अन्दर की छुपी हुई प्रतिभा को उजागर कर एक नई पहचान बनाना चाहते है। तो ऐसे में आप आज से ही नही बल्कि अभी से ही बनिये गोण्डा लाइव न्यूज के एक सशक्त सहयोगी। और अपने आस-पास घटित होने वाले किसी भी प्रकार की घटनाक्रम पर रखे पैनी नजर। और उसे झट लिख भेजिए गोण्डा लाइव न्यूज के Email-news101gonda@gmail.com पर या सम्पर्क करें दूरभाष- 9452184131 -8303799009 पर । सादर धन्यवाद

9 अक्तू॰ 2019

गोण्डा-आखिर क्यों रोकी गई पुलिस द्वारा देवी विसर्जन, मुस्लिम समुदाय भी विर्सजन मे सहयोग

रिर्पोट-आर तिवारी

गोण्डा। जनपद के मोतीगंज थाना क्षेत्र के संवेदनशील सिसवरिया गांव में जब किसी विशेष समुदाय व किसी ब्याक्ति द्वारा कोई विरोध नहीं किया गया । तो  फिर किस वजह रेलवे गेट पर लगें दो उप निरीक्षकों ने रेलवे गेट के पास विर्सजन यात्रा क्यो रोका गया। जब उस यात्रा का कहोवा चैकी प्रभारी सोम प्रताप सिंह व उप निरीक्षक राजेश कुमार पाण्डेय व उप निरीक्षक सतगुरु मिश्रा सिपाहियों के साथ बुद्धू पुरवा गांव से काफिले को लेकर आ रहे थे।  और रेलवे गेट पर डियूटी में लगे उप निरीक्षक विनय कुमार यादव व उप निरीक्षक देवेंद्र पाण्डेय ने काफिले जलुस को क्यो रोका । दोनों उप निरीक्षकों के कृत्य से नाराज होकर काफिले में चल रहे देवी भक्त महिलाएं पुरुष एवं बच्चे सडक पर धरने  पर बैठ गए। जब दोनों उप निरीक्षक शांति ब्यवस्था में लागये गये थे और विर्सजन यात्रा का नेतृत्व स्वय चैकी प्रभारी व दो उप निरीक्षक भारी पुलिस बल के साथ यात्रा में चल रहे थे। दो उप निरीक्षकों द्वारा पहले अल्लाह नगर गांव में रखी दूर्गा प्रतिमा विसर्जन के काफिले को रोका केवल प्रतिमा विसर्जन के लिए 11लोगो को भी जाने दिया। देवी भक्तों के धरने पर बैठ जाने से पुलिस प्रसाशन के हाथ पांव फूलने लगे और आनन फानन में अपने जिले के उच्च अधिकारियों को सूचना देना पड़ा। सूचना पाते ही जिले के अपर जिलाधिकारी, रत्नाकर मिश्र एस डी एम सदर बीर बहादुर यादव व अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। दूसरी तरफ देवी भक्तों ने सदर विधायक प्रतीक भूषण सिंह को सूचित किया सदर विधायक व जिला प्रशासन के अधिकारियों से वार्ता होने के बाद पूरा काफिला सिसवरिया गांव के पोखरे में विर्सजन के लिए पहुंचा।
- अन्ततः देवी भक्तों के आगे झुका प्रसाशन

विदित हो कि संवेदनशील गांव सिसवरिया गांव में आजादी से पहले करीब आठ दशक पूर्व से मुस्लिम बाहुल्य गांव में राम लीला कार्य क्रम का आयोजन चलता आ रहा हैद्यमजेदार बात तो यहहै  कोई सम्मानित  मुस्लिम समुदाय का ब्याक्ति  ही फीता काट कर शुभारंभ करता है। और वह परम्परा आज तक चली आ रही है। लेकिन कुछ अराजक तत्वों द्वारा घृणित कार्य करके गांव के आपसी भाईचारे को बिगड़ कर गांव को संवेदनशील के श्रेणी में ला  कर खडा कर दिया। विदित हो कि विगत वर्ष तत्कालीन मोतीगंज के थाना अध्यक्ष गोरख नाथ सरोज द्वारा इन्हीं गांव में रखी दूर्गा प्रतिमाएं शान्ति पूर्वक विर्सजित करायी थीं।  और मोहर्रम में ताजिए दारो का ताजिया भी इसी पोखरे के कार्बला में दफन कराया था।  जिसमे दोनो समुदाय के लोग गले से गला मिला कर एक दुसरे का अपार सहयोग किया और लोग पुनः एक होगये। लेकिन दुर्गा पूजा जलुस मे जब जिसको बिरोध करना चाहिए था वह बाखूबी सहयोग कर रहा है बावजूद रोक दिया गया इससे  साफ जाहीर होता नजर आ रहा है कि उक्त दोनो उपनिरीक्षको ने बिना वजह दिखाई हेकडी। आखिर कहां हुई चूक  इस का पुलिस के पास इसका कोई जवाब नहीं है।  जब कि मौके पर सी ओ मनकापुर एस के रवि मोतीगंज थाना प्रभारी निरीक्षक आर पी सोनकर महिला थाना प्रभारी निरीक्षक सरफारज अहमद ,के अलावा मोतीगंज थाने के कई उप निरीक्षक पुलिस एवं पी एस सी के जवान सिसवरिया गांव में लगाएं गये थे।उक्त घटना को लेकर लोगो मे रोष है । 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कृपया अपने वास्तविक नाम का प्रयोग करे । नाइस,थैक्स,अवेसम जैसे शार्ट कमेन्ट का प्रयोग न करे। कमेन्ट सेक्शन में किसी भी प्रकार का लिंक डालने की कोशिश ना करे। यदि आप कमेन्ट पालिसी का प्रयोग नही करेगें तो ऐसे में आपका कमेन्ट स्पैम समझ कर डिलेट कर दिया जायेगा। धन्यवाद...

ब्लॉग-लिस्ट ब्राउसर