जनहित में जारी एक आवश्यक सूचना गोण्डा लाइव न्यूज एक प्रोफेशन वेब मीडिया है। जो समाज में घटित किसी भी घटना-दुघर्टना , समसामायिक घटना , राजनैतिक घटना क्रम , भ्रष्ट्राचार , सामाजिक समस्या , खोजी खबरे , संपादकीय , ब्लाग , सामाजिक हास्य , व्यंग , लेख , खेल ,कविता ,कहानी , किसान जागरूकता सम्बन्धित लेख आदि से सम्बन्धित खबरे ही प्रकाशित करती है। यदि आप अपना नाम देश-दुनिया में विश्व स्तर पर ख्याति स्थापित करना चाहते है। और अपने अन्दर की छुपी हुई प्रतिभा को उजागर कर एक नई पहचान बनाना चाहते है। तो ऐसे में आप आज से ही नही बल्कि अभी से ही बनिये गोण्डा लाइव न्यूज के एक सशक्त सहयोगी। और अपने आस-पास घटित होने वाले किसी भी प्रकार की घटनाक्रम पर रखे पैनी नजर। और उसे झट लिख भेजिए गोण्डा लाइव न्यूज के Email-news101gonda@gmail.com पर या सम्पर्क करें दूरभाष- 9452184131 -8303799009 पर । सादर धन्यवाद

11 जन॰ 2020

गोण्डा-दबंगो ने अपनी जमीन के आगे रह रहे 6 परिवारों को अपने बाहुबल व पुलिस प्रशासन की मदद से किया गरीबों को बेघर

-योगी राज में भी चल रहा दबंगो का राज ,गरीबों को होना पड़ा बेघर 



इटिंयाथोक-गोण्डा।  जनपद के इटियाथोक थानांतर्गत मुंडरेवा ग्राम पंचायत में एक मामला प्रकाश में आया है । दबंगो ने अपनी जमीन के आगे रह रहे 6 परिवारों को अपने धन बल व बाहुबल के दम प्रशासन की मदद से गरीबों को घर से जबरन निकलवा दिया । गरीब अपनी जान माल को बचाकर तिरेमानोरमा स्थित राम जानकी मंदिर में शरण लिए हुए है । प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत मुंडरवा माफी के करीब 6 परिवार मंजू पत्नी फूलचंद्र, संजू पत्नी कन्हैया लाल, पवन पुत्र फौजदार, राम सजीवन पुत्र रामसमुझ ,खुशी राम पुत्र केदारनाथ, प्रेमा देवी  पत्नी सरदार करीब 10 वर्षों से घर बनाकर अपना गुजर-बसर कर रहे थे उनके घर के पीछे एपी मिश्रा पूर्व एमडी विद्युत विभाग की जमीन थी जो उक्त जमीन पर एक विद्यालय का निर्माण कराना चाहती थी कई बार इन लोगों से मन कहां गया उन जमीनों को हमें दे दो जब इन लोगों ने उन जमीनों को देने से मना किया उन लोगों के खिलाफ साजिश धनबल व बाहुबल प्रभाव से गरीब परिवारों को बेघर कर दिया उन परिवारों ने रो रो कर अपनी आपबीती सुनाई लोगों ने बताया करीब 10 वर्ष पूर्व हमने उक्त जमीन को गांव के ही अनुसूचित जाति के लोगों से खरीदा था।  वहीं सूत्रों की माने वह पट्टा खारिज होने के उपरांत उक्त जमीन पर रह रहे परिवार को खाली करवाया गया लेकिन विडंबना इस बात की है खाली होने के बाद उक्त जमीन ग्राम पंचायत की होती है उस पर दबंग व अन्य लोग कैसे काबिज हो सकते हैं अब यहां सोचने की बात है जो गरीब परिवार करीब 10 वर्षों से अपने परिवार के साथ अपना जीवन यापन कर रहे थे आज उन्हें जबरन घर से बेघर कर दिया गया है ऐसे में वह परिवार कहां जाएं क्या करें कैसे अपना जीवन यापन करें इस बात को शासन व प्रशासन को सोचना होगा शासन व प्रशासन का कार्य होता है गरीबों की मदद करना ना कि उन्हें उजाड़ ना, ये गरीब परिवार खौफ के साए में किसी तरह राम जानकी मंदिर में शरण लिए हुए हैं लेकिन राम जानकी मंदिर कब तक इन्हे शरण देंगा यह विचारणीय प्रश्न है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अस्वीकरण-
आवश्यक सूचना-कृप्या ध्यान दे ! गोण्डा लाइव न्यूज पर दी हुई संपूर्ण जानकारी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गयी हैं। हमारा आपसे विनम्र निवेदन हैं की किसी भी सलाह अथवा उपाय को आजमाने से पहले अपने नजदीकी विषय विशेषज्ञ अथवा चिकित्सक से एक बार अवश्य संपर्क करे। किसी भी प्रकार या विषय की जानकारी या स्वास्थ्य से सम्बंधित जानकारी का आशय एंव इस वेबसाइट का उद्देश है कि आपको विभिन्न विषयो से जुडी जानकारिया सहित स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना और विभिन्न विषयो से जुडी जानकारियो सहित स्वास्थ्य से जुडी जानकारी मुहैया कराना हैं। आपके सम्बन्धित विषय विशेषज्ञ या चिकित्सक को आपकी विचारो व सेहत के बारे में इस वेबसाइट की अपेक्षा बेहतर जानकारी होती हैं और उनकी सलाह का कोई विकल्प नहीं है ।


कृपया अपने वास्तविक नाम का प्रयोग करे । नाइस,थैक्स,अवेसम जैसे शार्ट कमेन्ट का प्रयोग न करे। कमेन्ट सेक्शन में किसी भी प्रकार का लिंक डालने की कोशिश ना करे। यदि आप कमेन्ट पालिसी का प्रयोग नही करेगें तो ऐसे में आपका कमेन्ट स्पैम समझ कर डिलेट कर दिया जायेगा। धन्यवाद...